गधा मेहनती, सीधा व सरल स्वभाव का मनुष्य का मित्र जानवर है

Posted By: admin

On: November 08, 2016 15:18:56

नई दिल्ली। “गधा” शब्द सुनते ही आपके मन में अजीब सी उबकाई आती है और गधा का अर्थ मूर्ख समझ लिया जाता है। लेकिन कभी आपने ये भी सोचा कि ये गधे न होते तो क्या आपकी दुनिया इतनी ही खूबसूरत होती?

4 अक्टूबर को वर्ल्ड एनिमल डे मनाया जाता है।

इस वर्ल्ड एनिमल डे पर गधों के कल्याण के लिए कार्य करने वाली संस्था डंकी 4 अक्टूबर को वर्ल्ड एनिमल डे पर डंकी सैंक्च्युरी ने कार्यक्रम आयोजित कर लोगों से अपील की कि गधा भी एक महत्वपूर्ण जीव है उसकी उपेक्षा न करें।सैंक्च्युरी इंडिया ने कई कार्यक्रम आयोजित किए और लोगों को जानवरों का हमारे जीवन में महत्व से परिचित कराया।

डंकी सैंक्च्युरी की कम्युनिकेशन मैनेजर रश्मि शर्मा ने बताया कि दुर्भाग्यवश गधे की हमेशा उपेक्षा की गई है और उसे हँसी या उपहास का पात्र ही समझा गया है, जबकि गधा मेहनती, सीधा व सरल स्वभाव का मनुष्य का मित्र जानवर है।

रश्मि शर्मा ने कहा कि आज के मशीनी युग में भी जहाँ मशीनें भी काम नहीं आतीं उन 4 अक्टूबर को वर्ल्ड एनिमल डे पर डंकी सैंक्च्युरी ने कार्यक्रम आयोजित कर लोगों से अपील की कि गधा भी एक महत्वपूर्ण जीव है उसकी उपेक्षा न करें।दुर्गम स्थानों पर भी गधा माल ढोने के काम आता है। जबकि उपेक्षा के चलते उसे भरपेट चारा व मूलभूत इलाज व दवा भी नहीं मिलती।

रश्मि शर्मा ने बताया कि डंकी सैंक्च्युरी इंडिया गधों के कल्याण के लिए समर्पित संस्था है, जो इस मुद्दे पर जागरुकता कार्यक्रम आयोजित करके गधों का मनुष्य के जीवन में महत्व को रेखांकित करती है।

4 अक्टूबर को वर्ल्ड एनिमल डे पर डंकी सैंक्च्युरी ने कार्यक्रम आयोजित कर लोगों से अपील की कि गधा भी एक महत्वपूर्ण जीव है उसकी उपेक्षा न करें।